दिल्ली की घरेलू बीवी की गांड फाड़ी

0
Loading...

प्रेषक : लव …

हैल्लो दोस्तों, मेरा नाम लव है, में दिल्ली का रहने वाला हूँ, में एक जिगलो हूँ, मेरी उम्र 21 साल है। एक दिन में घर पर फ्री था तो तभी मेरे फोन की रिंग बज़ी, वो फोन एक लेडी का था। फिर उसने बताया कि वो दिल्ली से बोल रही है। तो मैंने कहा कि में भी दिल्ली में हूँ और बोर हो रहा हूँ। फिर बात आगे बढ़ी और सेक्स पर आ गयी। फिर मैंने उसका नाम पूछा तो उसने अपना नाम संजना बताया। फिर उसने मुझसे संपर्क करने के लिए कहा। फिर मैंने पूछा कि तुम कहाँ पर रहती हो? तो वो बोली कि में बसंत विहार में रहती हूँ और कहने लगी कि तुम अभी आ सकते हो? फिर मैंने उसका पूरा पता लिया और उसको अपना चार्ज बता दिया तो वो राज़ी हो गयी।

फिर मैंने बाहर आकर एक टेक्सी पकड़ ली और बसंत विहार पहुँच गया। फिर जैसे ही मैंने डोरबेल बजाई तो वो दौड़कर आई और बोली कि लव? तो मैंने कहा कि हाँ। वो वहाँ पर एकदम अकेली रहती थी, उसका पति एक कंपनी में लंदन में काम करता था, वो 2 महीने में सिर्फ़ 3-4 दिन के लिए ही दिल्ली आता था, उसका घर बहुत ही खूबसूरत था। फिर उसने मुझे सोफे पर बैठने को कहा और कपड़े बदलने और चाय बनाने चली गयी। अब लगभग 10 मिनट बीत चुके थे, तो में बैचेन होने लगा। फिर मैंने टी.वी ऑन कर दिया और देखने लगा। फिर 15 मिनट के बाद वो चाय लेकर आई, उसने केवल ब्रा और पेंटी पहन रखी थी, उसका बदन एकदम गोरा था, वो बहुत ही खूबसूरत और सेक्सी लग रही थी। फिर उसने चाय टेबल पर रखी और मेरी गोद में बैठकर चाय बनाने लगी।

फिर उसने मुझे चाय दी और खुद मेरी गोद में ही बैठकर चाय पीने लगी। अब उसके गोद में बैठने से में जोश में आ गया था और मेरा लंड खड़ा हो गया था। फिर उसने भी मेरे खड़े लंड को महसूस किया और चाय पीते हुए अपनी गांड को मेरे लंड पर रगड़ने लगी थी। अब मुझे बहुत ही अच्छा लग रहा था। फिर 2 मिनट में ही हमने चाय खत्म की और वो मेरे ऊपर से हट गयी। फिर उसने मुझसे कहा कि मैंने तो अपने सारे कपड़े निकाल दिए, लेकिन तुमने अभी तक अपने कपड़े पहन रखे है, तुम भी इन कपड़ो को उतार दो। फिर मैंने भी अपनी चड्डी छोड़कर सारे कपड़े उतार दिए। फिर वो मेरी गोद में आकर बैठ गयी और मुझे चूमने लगी। फिर मैंने भी उसके होंठो को चूमना शुरू कर दिया, उसके लिप्स बहुत गर्म थे। अब में उसकी पीठ पर अपना हाथ फैरने लगा था और वो भी मेरे होंठो को चूमते हुए मेरे पीठ को सहलाने लगी थी। अब मेरा लंड एकदम उसकी चूत से सटा हुआ था, लेकिन बीच में उसकी पेंटी थी।

फिर मैंने उसकी पेंटी नीचे करनी चाही, तो वो बोली कि पहले तुम अपनी चड्डी उतारो और फिर उसके बाद मेरी पेंटी उतारना। तो मैंने अपनी चड्डी उतारने के बाद उसकी पेंटी को भी उतार दिया। फिर मैंने उसकी ब्रा को भी खोलकर फेंक दिया, अब हम दोनों एकदम नंगे थे। फिर मैंने उसे बेड पर ले जाकर बैठा दिया। अब मैंने उसके होंठो को चूमना और उसकी पीठ पर हाथ फैरना शुरू कर दिया था। फिर थोड़ी देर के बाद मैंने अपनी जीभ उसके मुँह में डाल दी और घुमाने लगा। फिर मेरी जीभ बाहर निकालने के बाद उसने भी वैसा ही किया। अब वो खूब मज़े से मेरे होंठो को चूस रही थी और मेरी पीठ पर अपना हाथ फैर रही थी। फिर थोड़ी देर के बाद मैंने अपना एक हाथ उसकी चूत पर रख दिया, तो वो मुझसे एकदम से लिपट गयी, उसकी चूत एकदम साफ और चिकनी थी। फिर मैंने उसकी चूत पर अपना हाथ फैरते- फैरते अपनी एक उंगली उसकी चूत में डाल दी, उसकी चूत एकदम गीली थी। फिर थोड़ी देर के बाद मैंने अपनी पूरी उंगली उसकी चूत में डाल दी और अंदर बाहर करने लगा। फिर उसने भी मेरा 7 इंच का लंड पकड़ लिया और सहलाने लगी। अब 5 मिनट में ही हम दोनों एकदम जोश में आ गये थे।

फिर मैंने उसे बेड पर लेटा दिया और उसके पैरों के बीच में आ गया। फिर मैंने अपने लंड का सुपाड़ा उसकी चूत के बीच में रखा तो उसने अपने चूतड़ ऊपर की तरफ उठा दिए। फिर मैंने एक धक्का लगाया तो मेरा आधा लंड उसकी चूत में घुस गया। फिर वो बोली कि अपना पूरा लंड मेरी चूत में जल्दी डालो, खूब चोदो मुझे, मेरी इस तरह चुदाई करो कि जैसा मेरे पति ने कभी ना की हो, खूब ज़ोर-ज़ोर से चोदना मुझको, आज फाड़ देना मेरी चूत को, रुकना मत। फिर मैंने एक धक्का और लगाया तो मेरा पूरा लंड उसकी चूत में समा गया। अब उसने अपने दोनों पैरों को मेरी कमर पर कसकर लपेट लिया था। फिर मैंने भी उसकी चुदाई तेज़ी के साथ शुरू कर दी और वो पूरे जोश में आकर बोलने लगी आह बहुत मज़ा आ रहा आह है, चोदो मेरे राज़ा, फाड़ डालो आज इस कुत्तिया की चूत को, तेज और तेज। अब में उसके चिल्लाने से और जोश में आ गया था और उसे एकदम तूफान की तरह चोदने लगा था। दोस्तों ये कहानी आप कामुकता डॉट कॉम पर पड़ रहे है।

Loading...

अब पूरा बेड ज़ोर-ज़ोर से हिल रहा था, अब इस समय में एकदम सातवें आसमान पर था। फिर इसी बीच मैंने अपना लंड पूरा बाहर निकाला और वापस से एक झटके में ही उसकी चूत में डाल दिया। तो वो चिल्ला उठी और उसने मुझे और ज़ोर से पकड़ा और लिपट गयी। अब वो पूरे जोश में आ गयी थी और झड़ने ही वाली थी और फिर मेरे 8-10 धक्को के बाद वो झड़ गयी। अब मुझे कोई जल्दी नहीं थी। फिर मैंने अपनी पोज़िशन बदल दी और उसे डॉगी स्टाइल में कर दिया और उसके पीछे आ गया। फिर मैंने अपना लंड उसकी चूत के बीच में रखा और एक ही धक्के में अपना पूरा लंड उसकी चूत में डाल दिया। अब मैंने अपनी एक उंगली उसकी गांड में डाल दी थी और बहुत ही तेज़ी के साथ उसकी चुदाई करने लगा था।

अब में उसको इतनी तेज चोद रहा था कि वो अपने आपको संभाल ही नहीं पा रही थी और ज़ोर-ज़ोर से चिल्ला रही थी चोदो मेरे राजा, आज मेरी चूत की चटनी बना डालो, अपना पूरा लंड इसमें डालकर खूब ज़ोर-ज़ोर से चोदो, अपने लंड के पानी से मेरी इस प्यासी चूत को सींच दो, मुझे इस चूत ने बहुत परेशान कर रखा है, मेरा पति 2 महीने में केवल 5-6 बार ही चोद पाता है और में भूखी रह जाती हूँ, आज तुम मेरी चूत का घमंड एकदम चूर-चूर कर दो, तुम बहुत अच्छा चोद रहे हो, आज मुझे इस चुदाई में जो मज़ा आ रहा है उतना मुझे अपने पति से चुदवाने में कभी नहीं आया, इस चुदाई को में ज़िंदगीभर याद रखूँगी, मेरे पति ने मुझे कभी इतना मज़ा नहीं दिया, अब मुझसे बर्दाश्त नहीं हो रहा है, तुम अपने लंड का पानी जल्दी से मेरी चूत में निकाल दो। फिर मैंने उसे बहुत ज़्यादा जोश में देखा तो मैंने अपनी पूरी उंगली उसकी गांड में डाल दी। फिर वो चिल्ला उठी और बोली कि क्या कर रहे हो? बहुत दर्द हो रहा है, आह में मर जाऊंगी, मत करो ऐसा, मुझमें इतनी ताकत नहीं है कि में दोनों छेद में एक साथ बर्दाश्त कर पाऊँ।

फिर मैंने अपने एक हाथ से उसकी चूचीयों को मसलना शुरू कर दिया, तो वो शांत हो गयी। अब वो भी अपने चूतड़ तेज़ी से आगे पीछे करते हुए मेरा साथ देने लगी थी। अब तक मुझे चोदते हुए लगभग 30 मिनट बीत चुके थे और अब मेरा भी पानी निकलने वाला था। अब में उसे पूरी ताकत के साथ और तेज़ी से चोदने लगा था। फिर 2 मिनट में ही मेरा पानी निकला और उसकी चूत भरने लगी। अब मेरा पानी निकलते ही वो एकदम शांत हो गयी थी और जैसे उसकी प्यासी चूत को पानी मिल गया हो। अब इस दौरान उसकी चूत से भी 4 बार पानी निकल चुका था। फिर मैंने अपना लंड उसकी चूत से बाहर निकाला तो मैंने देखा कि उसकी चूत एकदम सूज गयी थी, क्योंकि मेरा लंड शायद उसके पति के लंड से मोटा और लंबा था। अब उसकी चूचीयाँ मेरे मसलने से एकदम लाल-लाल हो गयी थी। फिर में उसके बगल में लेट गया।

फिर हम थोड़ी देर तक वैसे ही लेटे रहे। फिर 15 मिनट के बाद ही वो फिर से चुदवाने के लिए तैयार हो गयी। अब वो अपनी चूत को साफ करने के लिए बाथरूम जाना चाहती थी, लेकिन वो खड़ी नहीं हो पा रही थी, तो मैंने उसे सहारा देकर खड़ा किया और बाथरूम में ले गया। फिर बाथरूम में जाकर उसने पहले मेरे लंड पर साबुन लगाकर साफ किया और फिर उसके बाद वो अपनी चूत धोने लगी। फिर हम बाथरूम से वापस आए और अब वो बेड के किनारे पर एक तकिया रखकर बैठ गयी थी। फिर तभी मैंने उसके सारे बदन को चूमना शुरू कर दिया तो वो फिर से जोश में आने लगी। फिर मैंने उसकी चूत को चूमना शुरू किया, तो वो एकदम मस्त हो गयी। अब जोश के मारे उसकी चूत एकदम गर्म हो गयी थी। फिर मैंने अपनी जीभ उसकी चूत के अंदर डाल दी और घुमाने लगा तो वो पागल सी होने लगी और उसने मेरे सिर को कसकर पकड़ लिया।

Loading...

अब वो एकदम स्वर्ग का मज़ा ले रही थी और बोली कि चाटो मेरे राज़ा, मेरे पति ने कभी मेरी चूत को नहीं चाटा, में बहुत खुश नसीब हूँ कि मुझे अपनी चूत को चटवाने का मज़ा भी मिल रहा है, मेरी चूत को चाट-चाटकर इसका पानी निकाल दो, आह बहुत मज़ा आ रहा है और ज़ोर से, बस मेरा पानी निकलने ही वाला है, अआह्ह्ह में एयेए गइई और तेज-तेज। फिर थोड़ी देर तक उसकी चूत को चाटने के बाद वो झड़ गयी तो मैंने उसकी चूत से निकला हुआ सारा जूस चाट लिया। फिर मैंने एक क्रीम लेकर उसकी गांड पर लगाई और क्रीम लगाने के बाद मैंने अपना लंड उसकी गांड के छेद पर रखा तो वो बोली कि प्लीज में पहली बार गांड मराने जा रही हूँ, जरा धीरे-धीरे करना, फिर मैंने कहा कि ठीक है। फिर मैंने अपना लंड उसकी गांड में धीरे-धीरे घुसाना शुरू किया, तो वो सिसकारियाँ भरने लगी। अब अभी तक केवल मेरा सुपाड़ा ही उसकी गांड में घुसा था और फिर मैंने थोड़ा ज़ोर लगाया तो मेरा लंड उसकी गांड में 2 इंच तक घुस गया। फिर वो रोने लगी तो मैंने अपना लंड बाहर निकाल लिया तो वो कुछ समझ नहीं पाई।

फिर मैंने अपना लंड फिर से उसकी गांड के छेद पर रखा और अपनी पूरी ताकत के साथ एक धक्का लगा दिया तो मेरा आधा लंड उसकी गांड में घुस गया। अब वो बहुत ज़ोर-ज़ोर से चिल्लाने और रोने लगी थी, लेकिन मैंने उसकी कोई परवाह नहीं की और अपनी पूरी ताकत के साथ एक ज़ोरदार धक्का और मारा तो मेरा पूरा लंड उसकी गांड में घुस गया। फिर वो बहुत ज़ोर-ज़ोर से चिल्लाने लगी और अपने सिर के बाल नोचने लगी। लेकिन में रुका नहीं और फिर मैंने अपना लंड उसकी गांड में तेज़ी के साथ अंदर बाहर करना शुरू कर दिया। फिर थोड़ी ही देर के बाद उसका दर्द कम हो गया और उसे भी गांड मरवाने में मज़ा आने लगा। अब वो तेज़ी के साथ अपने चूतड़ आगे पीछे करते हुए गांड मरवाने लगी थी। फिर लगभग 30 मिनट के बाद में उसकी गांड में ही झड़ गया। फिर जब मेरे लंड का पूरा पानी निकल गया तो मैंने अपना लंड उसकी गांड से बाहर निकाला। अब उसकी गांड एकदम चौड़ी हो चुकी थी। फिर उसके बाद हम दोनों लेट गये और आराम करने लगे। फिर उसने उस दिन मुझे घर नहीं जाने दिया और वो पूरी रात मुझसे चुदवाती रही। फिर मैंने उस रात उसकी 4 बार चुदाई की और 2 बार उसकी गांड भी मारी। अब वो अपने पति के ना रहने पर मुझसे खूब चुदवाती है और हम दोनों खूब मजा करते है ।।

धन्यवाद …

Comments are closed.

error: Content is protected !!

Online porn video at mobile phone


sex kahani in hindi languagesaxy story audiosexy storyyhindi sexy khanisex stories hindi indiastory in hindi for sexhindy sexy storysaxy story hindi msexi story audiosexy stotysex hindi sitorynew sexy kahani hindi mehindy sexy storyhindi sex kahani hindi mesex hindi story comsexy stoies hindiwww hindi sexi kahanisexy storyyhindi saxy story mp3 downloadsexistorisexi hindi kahani combhabhi ko neend ki goli dekar chodaread hindi sex stories onlinewww sex kahaniyahindi sex astorisexy story in hundikamuktahindi sexi storiehindi sex story in voicesexe store hindehindi sexy soryindian sex stpsex story hindi comsexy story hindi mehindi story saxsex khani audiosx storyshindi sexi storeishindi new sex storyhindi sxe storysex stores hindenew hindi sexy storyfree hindisex storiessexy syoryhindu sex storisexy khaniya in hindihinde sex storehindi saxy kahanisaxy story hindi mefree hindi sex story in hindisex hindi story comhindi font sex kahanihini sexy storysexy syory in hindihindi sexe storikamuka storychudai kahaniya hindiarti ki chudaihindi sax storiyhindi sex stories read onlinehindi sexy kahanihindi sex historynew hindi sexy storyhindi saxy kahanisax hindi storeyhindi sexy storehindi audio sex kahaniasex hindi font storysexy storry in hindisexy khaniya in hindireading sex story in hindinew hindi sexy storiesexy kahania in hindisexi hindi kathasax stori hindechudai kahaniya hindisexy story new in hindihindi font sex kahaninew sex kahanisex stories in hindi to readbaji ne apna doodh pilayahindi sexy storihindi sex kahanihindi sax storysexcy story hindisexy striessexi kahani hindi mebhai ko chodna sikhayahindy sexy storysex hindi sexy story