नौकरी के बहाने चाचा ने चोदा

0
Loading...

प्रेषक : गीतांजलि …

हैल्लो दोस्तों, मेरा नाम गीतांजलि है और में हरियाणा की रहने वाली हूँ, मेरी उम्र 26 साल है और में अभी तक बिना शादीशुदा हूँ, लेकिन कुँवारी नहीं हूँ। अब आप लोग समझते होंगे कुँवारी और शादीशुदा में फर्क। चलो यहाँ पर में पहली बार अपनी रियल लाईफ के बारे में लिख रही हूँ, आज में आप लोगों को अपनी पहली चुदाई के बारे में बताऊँगी। में अपनी पढाई पूरी करने के बाद जॉब ढूंढ रही थी। फिर मैंने एक स्कूल में टीचर की जॉब शुरू की, लेकिन में उस जॉब से संतुष्ट नहीं थी। में और मेरे पेरेंट्स कोई अच्छी जॉब चाहते थे जैसे बैंक की जॉब। मेरे एक चाचू है जो पंजाब में रहते है, उनका नाम रंजीत है और वो बहुत पैसे वाले है, इसलिए मम्मी ने उनसे मेरी जॉब के बारे में बात की। तो चाचू ने कहा कि ठीक है में गीतांजलि को एक बैंक में जॉब दिला दूँगा, मेरा एक जानकार है, में उससे बात करूँगा।

फिर 4-5 दिन के बाद चाचू का घर पर फोन आया कि उन्होंने अपने दोस्त से जॉब के बारे में बात की है। तो उस दोस्त ने मुझे गुरूवार को दिल्ली में इंटरव्यू के लिए बुलाया है। तो मम्मी ने कहा कि ठीक है ये गुरूवार को इंटरव्यू देने चली जाएगी। फिर मम्मी ने कहा कि लड़की का अकेले जाना ठीक नहीं होगा अगर आपको टाईम हो तो आप साथ में चले जाओ, तो चाचू ने कहा कि मुझे तो काम है में नहीं जा पाउँगा, लेकिन अपने फ्रेंड को फोन कर दूँगा कोई चिंता की बात नहीं है। तो मम्मी ने कहा कि जैसा आपको ठीक लगे। फिर मंगलवार को चाचू का फोन दुबारा से आया कि उनकी उनके दोस्त से बात हो गयी है, इंटरव्यू बुधवार को हो जाएगा और वो भी मेरे साथ दिल्ली चले जाएँगे। फिर ये सुनकर मम्मी ने कहा कि ठीक है, अच्छा है कि आप साथ चले जाएँगे, बात भी अच्छे ढंग से हो जाएगी।

फिर चाचू ने कहा कि वो शाम तक घर आ जाएँगे और दिल्ली के लिए सुबह जल्दी निकल जाएँगे। फिर वो शाम को 9 बजे घर पहुँच गये। फिर सुबह 5 बजे उठकर में और चाचू दिल्ली के लिए निकल गये और दिल्ली पहुँचकर चाचू ने मुझे ब्रेकफास्ट के लिए पूछा, तो मैंने कहा कि भूख तो लगी है। फिर हम दोनों एक रेस्टोरेंट में ब्रेकफास्ट के लिए बैठ गये। फिर मैंने देखा कि वो तो एक बार था, तो मैंने चाचू से कहा कि ये तो बार है। तो चाचू ने कहा कि सॉरी ध्यान नहीं दिया, चलो किसी और रेस्टोरेंट में चलते है और फिर हम दोनों दूसरे रेस्टोरेंट में चले गये और फिर हमने ब्रेकफास्ट किया। फिर उन्होंने अपने दोस्त को फोन किया तो उनके दोस्त ने कहा कि मुंबई से उनके बॉस आने वाले है उनके आने के बाद इंटरव्यू होगा। फिर चाचू ने मुझसे कहा कि जब तक उनके दोस्त के बॉस आए तब तक हम दिल्ली घूम लेते है और इस तरह हम 3 बजे तक दिल्ली घूमते रहे।

फिर मेरे कहने पर उन्होंने दुबारा से अपने दोस्त को फोन किया। तो उन्होंने कहा कि उनके बॉस की फ्लाइट लेट है, तो वो शाम तक आएँगे। तो चाचू ने कहा कि ठीक है हम 7 बजे ऑफिस पहुँच जाएँगे, तो दोस्त ने कहा कि ठीक है। फिर जब शाम को 7 बजे चाचू और में उनके दोस्त के ऑफिस पहुँचे, तो वो वहाँ नहीं था। फिर चाचू ने फोन करके पूछा, तो उनके दोस्त ने कहा कि उनके बॉस रात को यहीं पर आराम करेंगे तो वो एक रूम बुक करवा दें। फिर चाचू ने एक होटल में पहुँचकर एक रूम बुक करवा दिया। फिर चाचू मुझसे बोले कि अगर फ्रेश होना है तो हो लो। फिर मैंने कहा कि हाँ ठीक है, में फ्रेश हो लेती हूँ और फिर हम दोनों उस रूम में चले गये। फिर रूम में पहुँचकर में फ्रेश होने बाथरूम में चली गयी और फिर जब बाहर आई, तो चाचू कोल्डड्रिंक पी रहे थे और फिर उन्होंने मुझसे कोल्डड्रिंक के लिए पूछा तो मैंने कहा कि हाँ मुझे भी पीनी है। फिर उन्होंने एक गिलास में मुझे भी कोल्डड्रिंक डालकर दे दी।

अब कोल्डड्रिंक पीने के बाद मुझे नशा सा होने लगा था। तभी चाचू ने कहा कि थोड़ी देर लेट जाओ और वो मुझे पकड़कर बेड के पास ले गये और मुझे बेड पर लेटा दिया और मेरे सिर पर अपना हाथ घुमाने लगे। फिर धीरे-धीरे उनका हाथ मेरे गाल पर आ गया और अचानक से ही उन्होंने मुझे किस किया। तो में हैरान रह गयी तो मैंने कहा कि ये आप क्या कर रहे है चाचू? तो उन्होंने कहा कि क्या हुआ? कुछ ही तो नहीं हुआ, आजकल ये तो आम बात है, किसी को पता नहीं चलेगा? तो मैंने कहा कि नहीं ये सब मुझे पसंद नहीं है और आप मेरे चाचू है। फिर उन्होंने कहा कि इससे क्या फर्क पड़ता है? और ये कहकर वो मेरे पास लेट गये और मेरी शर्ट के बटन खोलने लगे। फिर मैंने उन्हें रोकने की काफ़ी कोशिश की, लेकिन वो नहीं माने। दोस्तों ये कहानी आप कामुकता डॉट कॉम पर पड़ रहे है।

Loading...

अब मेरे अंदर काफ़ी कमज़ोरी आ गयी थी। अब उन्होंने उसका फायदा उठाकर मेरी शर्ट उतार दी थी और बोले कि ये इंटरव्यू तो बहाना था, में तुम्हें दिल्ली इसलिए ही लाया था, काफ़ी दिन से मेरी नजर तुम पर थी, में तुम्हारे साथ सेक्स करना चाहता था, लेकिन मौका नहीं लगा। फिर जब तुम्हारी मम्मी ने मुझे तुम्हारी जॉब के लिए कहा तो तब मुझे लगा कि ये मौका अच्छा है। अब ये सब सुनकर मुझे अपने कान पर विश्वास नहीं हो रहा था और ये कहकर वो मेरे बूब्स को आराम-आराम से दबाने लगे और बोले कि गीतांजलि इन्हें चूची कहते है और उन्होंने ये कहकर मेरी चूची बहुत ज़ोर से भींच दी। फिर उन्होंने मेरी ब्रा उतार दी और मेरे चूची को चूसने लगे और मेरे दूसरी चूची को मसलते रहे। फिर उन्होंने मुझे खड़ा करके मेरे सारे कपड़े उतार दिए और अपने भी पूरे कपड़े उतार दिए, उनका लंड काफ़ी बड़ा था। अब में उनके लंड को देखकर चीख पड़ी थी। फिर उन्होंने कहा कि चिंता मतकर गीतांजलि दर्द नहीं होगा, में आराम से डालूँगा और ये कहकर उन्होंने मुझे बेड पर लेटा दिया और मेरे पूरे शरीर को चूमने लगे। फिर उन्होंने मेरे पूरे शरीर को ऊपर से नीचे तक चूमा और फिर उन्होंने मेरी चूची को काटा भी। अब हम दोनों नंगे थे और में शर्मा रही थी, लेकिन चाचू जबरदस्ती कर रहे थे।

फिर उन्होंने देर ना करते हुए मेरे बूब्स को दबाने लगे। अब मेरी ब्राउन मोटी निप्प्ल टाईट हो गयी थी और वो तो चूसते ही रहे। फिर थोड़ी देर के बाद मुझे भी मज़ा आने लगा तो मैंने भी अपनी टाँगो को फैलाया, तो फिर वो मेरी चूत को चाटने लगे। अब तो मेरे मुँह से आवाज़ निकल गयी थी सस्शह, आअहह चाचू, ऐसे थोड़ी देर और करो ना। अब वो समझ गये थे कि ये गर्म हो रही है। फिर उन्होंने थोड़ी देर और किया और अब की बार तो उन्होंने अपनी पूरी जीभ मेरी चूत के अंदर डाल दी और मज़े ले-लेकर चाटने लगे। अब में दर्द के मारे तकिया दबा रही थी। फिर उन्होंने अपने लंड पर थोड़ा तेल लगाया और मेरी गांड के पास लाकर मेरे होंठो पर किस करने लगे, ताकि में चिल्ला ना सकूँ। फिर उन्होंने अपने लंड को ज़ोर-ज़ोर से धक्के मारकर मेरी गांड में डाल दिया, में वर्जिन थी इसलिए मेरी चूत बहुत टाईट थी और उनका लंड तो पूरा 7 इंच का है और मोटा भी है। फिर जब मेरी गुलाबी चूत में उन्होंने अपना पहला धक्का मारा, तो उनके लंड का टोपा अंदर चला गया। तो में दर्द के मारे चिल्ला पड़ी धीरे डालो दर्द होता है, लेकिन उन्होंने मेरी एक नहीं सुनी और अपना दूसरा धक्का मार दिया। तो तब मुझे ऐसा लगा कि मेरी जान निकल गयी हो और में ज़ोर से चीखी ऊऊओ, चाचू तुम पागल हो क्या?

फिर इतने में उन्होंने एक और झटका मारा तो उनका पूरा लंड अंदर चला गया और मेरी तो आआहह क्या बताऊँ? मार डाला चाचू ने। अब में और नहीं सह सकती थी। फिर उन्होंने कहा कि तुम्हारा पहली बार है इसलिए दर्द होगा, लेकिन बाद में तुम्हें भी मज़ा आएगा और अपना लंड अंदर बाहर करने लगे। अब में दर्द के मारे मरी जा रही थी आह, श नहीं बस करो और फिर उस दिन उन्होंने मेरी सील तोड़ दी और मेरी चूत से खून भी बहुत निकला था। फिर उन्होंने मेरे ऊपर चढ़कर 15 मिनट तक मेरी चुदाई की और फिर उन्होंने मेरी गांड पर और अपने लंड पर थोड़ा तेल लगाया और धीरे-धीरे मेरी गांड में अपना लंड डालने लगे। अब उनका लंड बहुत मुश्किल से जा रहा था, लेकिन फिर जाने लगा और फिर एक ज़ोर का झटका देकर उन्होंने एक ही बार में अपना पूरा लंड घुसा दिया। तो में बहुत ज़ोर से चिल्लाई बहुत दर्द हो रहा है चाचू, प्लीज मत करो। लेकिन वो नहीं माने और मेरे और झटके मारने लगे।

Loading...

अब में समझ गयी थी कि चाचू मुझे आज नहीं छोड़ने वाले है, अब मुझे दर्द हो रहा था और मेरी आँखो से आँसू निकल गये थे और मेरी गांड में से खून भी निकल गया था। फिर भी उन्होंने मुझे नहीं छोड़ा और लगातार मुझे ज़ोर-ज़ोर से चोदते रहे। फिर थोड़ी देर के बाद मुझे सीधा लेटाकर मेरी कमर के नीचे एक तकिया रखा और मेरी चूत में अपना लंड डालकर जोर से एक धक्का मारा। अब में दर्द से मरी जा रही थी, अब में चिल्लाना चाह रही थी, लेकिन उन्होंने मेरा मुँह बंद कर रखा था। फिर वो धीरे-धीरे अपने लंड को मेरी गांड में अंदर बाहर करने लगे, तो धीरे-धीरे मुझे भी मज़ा आने लगा और में भी उछल-उछल कर अपनी गांड में उनका लंड लेने लगी। फिर तभी मेरे चाचू ने कहा कि मज़ा आ रहा है ना गीतांजलि। फिर मैंने कहा कि हाँ चाचू अब ठीक है।

फिर उन्होंने मुझे लगातार 2 घंटे तक चोदा। फिर उसके बाद जब वो थोड़ा थक गये तो बोले कि थोड़ा आराम कर लो, तो में आराम करने लगी। फिर तभी मैंने देखा कि 15 मिनट के बाद ही चाचू ने मेरे पीछे से मेरी चूत में अपना लंड डाल दिया था और मुझे चोदने के लिए तैयार थे। फिर उस रात उन्होंने मुझे 4 बार चोदा। फिर सुबह जब मैंने अपने आपको बाथरूम में जाकर साफ किया और बेड पर आकर लेट गयी, तो तभी चाचू मुझे किस करते हुए बोले कि गीतांजलि अब दुबारा कब होगा? तो मैंने कहा कि जब घर पर कोई नहीं होगा तब। में उस चुदाई को कभी नहीं भुला सकती हूँ, वो मेरी पहली चुदाई थी, लेकिन उसके बाद तो जैसे ये सिलसिला शुरू ही हो गया था। अब चाचू 4-5 दिन में एक बार मेरे पास जरूर आते है और जमकर मेरी चुदाई करते है। अब तो मुझे भी चुदाई करने में बड़ा मज़ा आता था और हम दोनों खूब इन्जॉय करते है ।।

धन्यवाद …

Comments are closed.

error: Content is protected !!

Online porn video at mobile phone


adults hindi storiessexy stori in hindi fonthindi sexy stroieshindi sexy setoresex hindi font storyindian sax storysax hindi storeysex hindi sexy storyhindi sex stosex ki hindi kahanihindi sex stories to readsexy hindi story readhhindi sexhindi sexy stroystore hindi sexhindi sec storysexy story hindi comsexy stoerisexy stotisex khani audiosexsi stori in hindisex store hindi mesexi storeishindi history sexindian hindi sex story comsexy story hundiwww hindi sexi kahanihindi sex kahani hindi mewww sex story in hindi comsax store hindeindian sex stphinde sex storesexy stroihindi sexy story in hindi fonthindi sex katha in hindi fontall hindi sexy kahanisexy stroisex ki hindi kahanisexy stoeriwww new hindi sexy story comsex hindi sitorybehan ne doodh pilayasex ki story in hindiwww hindi sexi kahanisex kahani hindi fontchut land ka khelhindhi sex storihindi sex story downloadsex story hindi allindian sexy story in hindisexi khaniya hindi mebehan ne doodh pilayanew hindi sexi storysax stori hindehindi audio sex kahaniasexy story in hindi langaugehindi sexy stoerydukandar se chudaihindi sexy story in hindi languagehhindi sexsex story download in hindiankita ko chodasexi hindi kathasexy hindi story combhabhi ko nind ki goli dekar chodasex stori in hindi fontsexy stioryindian sex history hindisexy stiry in hindihinde sex storearti ki chudaihendhi sexhindi sex kathahindi new sex storysex stori in hindi fonthindi sexi storiefree hindisex storiessexi storeysexy new hindi storyhindisex storhindu sex storisaxy store in hindihindi sexy sortykamukta comread hindi sex storiesnind ki goli dekar chodaread hindi sex storieshindi sexy sortysex khaniya hindihindi sexy istorihinde sxe storihindi sexi storiefree sexy story hindifree sex stories in hindi