पड़ोसन की कामुक चूत का स्वाद

0
Loading...

प्रेषक : राज …

हैल्लो दोस्तों, मेरा नाम राज है, आज में आपको मेरी एक रियल स्टोरी बताने जा रहा हूँ। मेरी कामुकता डॉट कॉम पर यह पहली स्टोरी है। अब में आपका ज्यादा समय ख़राब ना करते हुए सीधा अपनी स्टोरी पर आता हूँ। मेरे पड़ोस में एक आंटी रहती थी, उसकी शादी को करीब 20 साल हो चुके है, लेकिन उसके कोई बच्चा नहीं है। वो मुझे बचपन से देखती आ रही है। अब पहले तो मेरा उसमें कोई रूचि नहीं थी, लेकिन 4-5 साल पहले में उसकी तरफ आकर्षित होने लगा। उसका फिगर बहुत स्लिम है और उसके बूब्स छोटे-छोटे लेकिन बहुत सेक्सी है, वो घर में ज़्यादातर एक पेटीकोट में रहती थी, बस यही से में उसकी तरफ आकर्षित हुआ था। मैंने उसको बहुत बार सिर्फ पेटीकोट में देखा था, उसके बूब्स मुझे ललचाने लगे थे। वो मेरे साथ हर टाईप की बातें करती थी, स्पेशली सेक्स की और मुझे बहुत गर्म करती थी। में हमेशा उसके बारे में सोचकर घुठा करता था, अब में उसे चोदने के लिए मर रहा था, लेकिन मुझे ये समझ में नहीं आता था कि कैसे उसे प्रपोज करूँ? क्योंकि में डरता था कि कहीं वो मेरे घरवालो को ना बोल दे। अब इस तरह से में अपने दिल में उसे चोदने की आस दबाए घुठे जा रहा था, लेकिन भगवान के घर में देर है, लेकिन अंधेर नहीं, अब उसने मेरी सुन ली थी।

फिर एक दिन मेरे घर में सब शादी में गये हुए थे और किस्मत से उसका पति भी शहर से बाहर था। में  उसके घर टी.वी देखने जाता था और फिर उस रात भी खाना खाने के बाद में उसके घर गया। अब वो सिर्फ़ पेटीकोट में थी, उसने अपने बूब्स को पेटीकोट में ढका हुआ था। अब उसे देखकर मुझे पसीना आने लगा था। अब में चैनेल चेंज कर रहा था कि एक इंग्लिश चैनेल में एक ब्लू फिल्म केबल वाले ने लगाई थी। तब पहले तो में डर गया और फिर मैंने देखा कि वो सो रही है, तो तब मैंने हिम्मत करके देखना चालू किया। में सोते समय सिर्फ़ टावल पहनता हूँ, वो भी बिना अंडरवेयर के, बस फिर क्या था? मेरा 7 इंच का लंड खड़ा हो गया था और अब में उसको बिंदास सहलाने लगा था।

फिर तभी मुझे ऐसा लगा कि वो मुझे चुपके से देख रही है तो तब में डर गया, लेकिन वो मुझे देखकर  मुस्कुराने लगी और गाली बकने लगी थी, वो भी सेक्सी अंदाज में, मादरचोद तेरा लंड तो बड़ा खड़ा हो रहा है, मेरे घर में मेरे सामने हिला रहा है। अब में बहुत डर गया था और ये सोचने लगा था कि कहीं वो किसी से बोल ना दे। अब में उसके सामने गिडगिडाने लगा था सॉरी प्लीज, मुझे माफ कर दो, में ऐसा दुबारा नहीं करूँगा, तुम जो बोलोंगी वो करूँगा। बस मेरे इतना कहने की देरी थी और उस रंडी ने मेरा टावल खींच डाला। अब में उसके सामने पूरा नंगा खड़ा था और अब मेरा लंड एक कोबरा की तरह फूंकार मार रहा था।

फिर उसने मेरे लंड को अपने एक हाथ में ले लिया और बोली कि बहुत बड़ा लंड है रे तेरा और फिर वो मेरे लंड के साथ खेलने लगी। अब मुझे बहुत मज़ा आने लगा था। फिर उसने अपना पेटीकोट भी उतार दिया। अब हम दोनों नंगे खड़े थे। फिर मैंने उससे कहा कि तुम बहुत खूबसुरत हो और में तुम्हें कई साल से चोदना चाहता हूँ। तो तब उसने भी कहा कि चुदवाना तो में भी चाहती थी, लेकिन रिश्तों की सीमाओं की वजह से डरती थी। बस फिर क्या था? मैंने कहा कि आज तो सब सीमाएँ टूट गयी, आज में जी भरकर तुम्हें चोदूंगा, में आज तुम्हारी प्यास बुझाऊँगा, जो तुम्हें इतने सालों से अंकल से नहीं मिला वो मजा आज में तुम्हें दूँगा। अब हम दोनों एक दूसरे से प्यासे प्रेमियों की तरह लिपटने लगे थे। फिर मैंने उसके रसीले होंठो को जी भरकर चूसा। अब उसने भी कोई कसर बाकी नहीं रखी थी, उसके छोटे- छोटे बूब्स जिन्हें मसलने के लिए में कई सालों से आस लगाकर बैठा था, अब मेरे सामने नंगे थे। फिर मैंने जी भरकर उसके बूब्स को चूसा। दोस्तों ये कहानी आप कामुकता डॉट कॉम पर पड़ रहे है।

Loading...

अब में उसके निपल्स को अपने दातों से काटने लगा था। अब उसे बड़ा मज़ा आ रहा था और अब वो ऊऊऊऊहह,  आआआआहह की आवाज़े निकाल रही थी। अब वो मुझसे लिपटकर बोल रही थी और चूसो,  पूरा ख़ा जाओ, खा जाओ मेरा निप्पल। फिर मैंने उसे बिस्तर पर लेटा दिया और उसके पूरे बदन को चूसने, चाटने लगा था, आज मुझे ऐसा लग रहा था कि जैसे मेरी बरसों की प्यास बुझ रही है। अब वो बिस्तर पर पड़ी-पड़ी सिसकारियाँ ले रही थी आआआआअहह, ओह और चाटो और चूसो, आआ मेरे पूरे बदन को अपने थूक से गीला कर दो, मुझे खा जाओ, में सिर्फ तुम्हारी हूँ, मेरी प्यास बुझा दो, आहह,  सक मी, हाईई में मर गइईईई। अब में धीरे-धीरे उसकी चूत की तरह बढ़ने लगा था। उसकी चूत के ऊपर छोटे-छोटे बाल थे, जो मुझे और पागल कर रहे थे।

अब में उसके बालों को सहलाने लगा था और उसकी चूत में धीरे-धीरे उंगली करने लगा था। अब उसे मज़ा आने लगा था और अब वो और ऊहह, आआहह, में मर जाऊँगी, मत करो, ऊऊऊ, प्लीज, सस्स्स्सस्स कहने लगी थी, लेकिन अब में उसकी सुनने वाला कहाँ था? फिर मैंने अपनी जीभ उसकी चूत पर लगा दी। अब वो अपने दोनों पैरों को खोलने लगी थी और जोर-जोर से चिल्लाने लगी थी  आआआअहह। फिर में उसकी क्लाइटॉरिस को चूसने लगा और अब वो सिसकारियाँ लेने लगी थी। अब में ज़ोर-ज़ोर से अपनी जीभ से उसे चाटने लगा था और वो चिल्लाने लगी थी। अब उसने मेरे सिर को अपनी चूत पर दबा लिया था। फिर वो कहने लगी कि मेरा निकलने वाला है। तो तब मैंने कहा कि तुम मेरे मुँह में डाल दो, में तुम्हारा जूस टेस्ट करना चाहता हूँ। तो फिर क्या था? फिर 2 मिनट के बाद वो खल्लास हो गई और उसकी चूत में से जूस निकलने लगा, वाह क्या टेस्ट था? बिल्कुल मौसमी की तरह। अब में उसका सारा का सारा जूस पी गया था। फिर मैंने उसकी चूत को और चाटा और और फिर उसके बूब्स दबाने लगा। अब मेरा लंड फनफ़ना रहा था।

Loading...

फिर उसने मेरे लंड को अपने एक हाथ में ले लिया और उसे अपने होंठो से लगाने लगी थी और उसे पूरा का पूरा अपने मुँह में डालकर चूसने लगी थी। अब में मस्त होने लगा था। अब वो मेरे लंड को खूब जोर-जोर से हिलाने और चूसने लगी थी। फिर मैंने उसके बालों को पकड़ लिया और उसके मुँह में अपना लंड पेलने लगा था और अब में अपना लंड पेलते वक़्त उसे रंडी, हरामजादी बोलने लगा था और अब वो और मस्त होने लगी थी। फिर 5 मिनट के ब्लोवजोब के बाद में भी खल्लास हो गया। फिर थोड़ी देर तक में ऐसे ही बिस्तर पर पड़ा रहा और फिर उसने मुझे चूमना स्टार्ट किया। अब मेरा लंड फिर से सलामी देना लगा था। अब में और टाईम बर्बाद नहीं करना चाहता था और ना ही वो। तब मैंने उसकी दोनों टांगो को अपने कंधों पर रखा और अपने लंड का सूपाड़ा उसकी चूत पर टिका दिया। तब उसने मेरे लंड को थोड़ा गाइड किया और फिर एक ज़ोरदार धक्के के साथ मेरा पूरा का पूरा लंड उसकी चूत में चला गया।

अब वो चीखने, चिल्लाने लगी थी बाहर निकाल मादरचोद, तेरे लंड से मेरी चूत फट जाएगी, हाए में मर गइईईईईई, हरामी के पिल्ले निकाल अपना लंड। लेकिन अब में उसकी सुनने वाला कहाँ था और फिर मैंने और जोर-जोर से उसे पेलना चालू किया। फिर थोड़ी देर के बाद ही उसे भी मज़ा आने लगा और अब वो भी अपनी गांड उछालकर मेरा साथ देने लगी थी। फिर क्या था? अब पूरा कमरा उसकी आवाज़ों से और पछ-पछ की आवाजों से गूंजने लगा था। आज मेरा बरसों का सपना पूरा हो रहा था, अब में उसे जी भरकर चोदने लगा था। फिर थोड़ी देर के बार में उसे डॉगी स्टाइल में चोदने लगा। अब में उसके बालों को पकड़कर उसकी गांड पर चाटा मारता हुआ उसकी चूत को चोद रहा था। अब उसे बड़ा मज़ा आ रहा था और साथ में मुझे भी बहुत मजा आ रहा था। अब उसके बूब्स को हिलता हुआ देखकर मेरी स्पीड और बढ़ रही थी। फिर लगभग 20 मिनट की दमदार चुदाई के बाद वो खल्लास हो गई और उसके साथ-साथ में भी झड़ गया था। फिर हम दोनों ऐसे ही एक दूसरे पर आधे घंटे तक पड़े रहे। फिर मैंने उसकी गांड भी मारी ।।

धन्यवाद …

Comments are closed.

error: Content is protected !!

Online porn video at mobile phone


sax store hindeall hindi sexy storysex store hindi mechut fadne ki kahanihindi sexy storeyhindi sxe storesexy story in hundiread hindi sexhindi story saxsexy stotyhidi sax storysex store hendehindi sexy atorysax stori hindesex kahani hindi fonthindi sex kahani newread hindi sex storiessex story read in hindiwww sex story in hindi comwww free hindi sex storyhindi sexy storisesex khani audiowww sex kahaniyasaxy story hindi mesexy stoeysexy stotiwww free hindi sex storyhindi sax storysexy story com hindikamuktha comhinde six storysexy story hindi comadults hindi storiessaxy store in hindiindian sex stories in hindi fonthindi sex wwwhindi sex strioeshindi sex kahani newkamuka storyhindi sex kahani hindi fontsex hindi font storyhindi sex storihindi sex kathasexy storishnanad ki chudaihindisex storiesexi kahani hindi mehindi sexy stores in hindihindi sexcy storiesdesi hindi sex kahaniyanhindhi sex storisex khaniya in hindifree hindi sex story audionew sex kahanisexy storiysexy hindi story readhindi sexy story adiosexi hidi storynind ki goli dekar chodahindi sex story sexhindi sexy storeyhindi sexstoreishindi sexy stroyhindi sex kahanisex hindi sex storymosi ko chodasax hindi storeyhindi sex story free downloadsexy story in hundihindi sex story free downloadkamuktasext stories in hindiall new sex stories in hindisexcy story hindihindi sexcy storiessexi hinde storyfree hindisex storieshindi sexy stroessexy adult hindi storydukandar se chudaibehan ne doodh pilayasexy story hibdi