सगी बहन को मॉडर्न बनाकर चोदा

0
Loading...

प्रेषक : भाई …

हैल्लो दोस्तों, में शुरू से ही लड़कियों के मामले में बहुत खुले विचारों का हूँ इसलिए में हमेशा उनकी तरफ बहुत आकर्षित हुआ करता हूँ और हम लोग जयपुर के रहने वाले है। में पिछले कुछ सालों से लगातार कामुकता डॉट कॉम पर सेक्सी कहानियों को पढ़कर उनके मज़े लेता आ रहा हूँ और मुझे ऐसा करने में बड़ा मज़ा आता है। मैंने कई बार अपने लंड को हिलाकर उसको शांत किया। दोस्तों आज में आप सभी को अपनी एक सच्ची घटना सुनाने के लिए आया हूँ और मुझे उम्मीद है कि यह मेरी कहानी आप सभी पढ़ने वालो को जरुर पसंद आएगी। दोस्तों में एक मध्यमवर्गीय परिवार से हूँ और मेरी उम्र 21 साल है। मेरे परिवार में मेरी माँ, पापा और मेरी एक बहन जिसका नाम लता है, उसकी उम्र 20 साल है मेरा एक बड़े कॉलेज में पिछले साल दाखिला हो गया और इसलिए मैंने तभी से बाहर की दुनिया के सभी मज़े पहले ही साल में ले लिए, लेकिन उस समय मेरी बहन लता इंग्लीश में बीए कर रही है, वो भी सिर्फ़ पेपर देने ही उसके कॉलेज जाती थी, बाकि समय वो घर में ही रहा करती थी और इसलिए वो मुझे हमेशा मॉडर्न बनकर रहते हुए देखती थी और वो आसपास की लड़कियों को भी जींस टी-शर्ट और तरह तरह के मॉडर्न कपड़े पहनते हुए देखा करती थी, लेकिन उस पर मेरी मम्मी और पापा की बहुत पाबंदिया थी इसलिए वो वैसे कपड़े नहीं पहन सकती थी। कई दिनों तक तो उसके दो ही मन बहलाने के जुगाड़ होते थे, उसका मुझसे हर कभी हंसी मज़ाक करना या फिर टीवी देखना वो उन्ही कामो में हमेशा खुश रहा करती थी। एक बार मेरी मम्मी पापा दो दिन के लिए मेरे ननिहाल जो एक गाँव है, वो वहां पर एक शादी में चले गये और उस समय मेरे पेपर भी एक महीने के बाद ही थे और लता को भी मेरे लिए खाना बनाने और घर के कामों के लिए रुकना पड़ा इसलिए घर में हम दोनों भाई बहन ही अकेले रह गए और में अपने कॉलेज चला जाता वहां से आकर में अपने दूसरे कामो में लगा रहता।

फिर एक दिन में अपने कमरे में बैठकर अपनी पढ़ाई कर रहा था तभी वो कुछ देर बाद मुझसे बात करने के लिए मेरे कमरे में आकर बैठ गई और वो मुझसे कहने लगी कि कुछ सालों में हमारी भी शादी हो जाएगी क्या कभी मैंने ऐसा सोचा है? तो मैंने गौर किया कि उसमें अभी भी बहुत बचपना था और वो इन घरेलू बातों से ऊपर नहीं सोच सकती थी, उसके सलवार कुर्ते में ढके 36-29-34 के बूब्स 5.4 इंच के गोरे बदन को मैंने पहली बार हवस की निगाहो से देखा, लेकिन उसको मेरी वो नज़र बिल्कुल भी समझ में नहीं आई और अब वो मेरे जवाब का इंतज़ार करती रही, तभी मैंने उससे पूछ लिया कि तुम शादी के बारे में क्या जानती हो? तो उसने बारात घोड़े के बारे बताना शुरू कर दिए और फिर मैंने उससे पूछा कि क्या तुमने अपने जीवन में कभी कुछ किया भी है? पड़ोस की लड़कियाँ अपने अपने बॉयफ्रेंड बनाकर उनके साथ घूमती फिरती है वो उनके साथ डिस्को जाती है और तुमने आज तक जींस तक भी नहीं पहनी। दोस्तों उसकी तड़प को इतने दिन तक महसूस करने के बाद यह मेरा तरीका सोच पाना मेरे लिए बिल्कुल भी मुश्किल नहीं था, इसलिए वो मेरी बातें सुनकर चकित सी रह गई और उसके पास अब सोचने तक को भी कुछ नहीं बचा था। अब मैंने ठीक सही समय पर तीर मारते हुए उससे कहा वैसे तुम चाहो तो में तुम्हे सब कुछ सिखा सकता हूँ और फिर उसके बाद तुम भी एक मस्त दिखने वाली मॉडर्न लड़की बन जाओगी और तुम्हें बाहर सभी के साथ उठाना बैठना आ जाएगा और फिर लाइफ में एक सब कुछ करके तो देखना ही चाहिए और तुम बहुत से काम पहली बार ही कर रही होगी और वो मुझे बहुत ही शांतिपूर्ण सुनती रही और अब वो मेरी बातें सुनकर गरम हो गई और वो मुझसे बोली कि हाँ ठीक है वैसे भी अगले दो दिन तक मम्मी पापा भी यहाँ पर नहीं होंगे। दोस्तों वो अब यह बातें मुझसे ऐसे कह रही थी जैसे कि हर बंधन से वो मुक्त हो गई हो। फिर मैंने शाम के लिए विस्की, सिगरेट, मिनी स्कर्ट, मेक्सी सब मुझे अपने दोस्तों की गर्लफ्रेंड या दोस्तों से बड़ी आसानी से मिल गए थे और मुझे घर पर ना होकर किसी नई दोस्त के साथ होटल में होने का बहाना भी मिल गया। फिर उसी शाम को करीब पांच बजे मेरी बहन लता ने दरवाजे को अच्छी तरह से बंद कर दिया। हमारे घर में निचले हिस्से पर बाहर से बिल्कुल भी अंदर नहीं दिखता, वो उस समय किचन में दूध गरम कर रही थी कि तभी मैंने पीछे से जाकर गैस को बंद कर दिया, वो थोड़ी सी घबराई हुई थी जिससे मुझे पता लगा कि सेक्स के बारे में किताबो में या किसी और से उसको सब कुछ तो पता था, लेकिन वो खुलकर हर तरह के मज़े देखना चाहती थी।

फिर मैंने उससे कहा कि अब जो भी हमारे बीच में होगा, इससे वो उसका पूरा मज़ा लेगी और उसके हाँ कहते ही मैंने तुरंत उसको अपनी बाहों में भरकर उठा लिया और फिर में उसको अपने रूम में ले गया। अपने कमरे में लगे उस लंबे शीशे के सामने ले जाकर मैंने उसको खड़ा करके उसके चुटकी लेते हुए में उससे बोला कि इतनी जल्दी भी क्या है? तो मुस्कुराते हुए उसने पहले मेरी तरफ देखा और उसके बाद टेबल की तरफ देखा वहां पर मेरी जींस टी-शर्ट रखी हुई थी। मैंने उसको वो कपड़े बाथरूम में जाकर बदलने को कहते हुए बोला कि वो दरवाजा खुला रखकर बदले है और वो दरवाजे को बिना लगाए वो कपड़े पहनकर बाहर आ गई और शीशे के सामने आकर वो अपने आप को चारों तरफ से बड़ी ही चकित नजर से देखने लगी और उस समय मेरी कमर का आकार 30 था, इसलिए वो उस पर अच्छी तरह से फिट हो रही थी, लेकिन वो टी-शर्ट में बहुत बेकार महसूस कर रही थी, इसलिए मैंने उसको कहा कि वो अपनी उस टी-शर्ट को उतार दे, तो उसने भी ठीक वैसा ही किया। अब वो अपनी ब्रा में पहली बार किसी लड़के के सामने खड़ी थी और वो लगातार मुझे ही अपनी अजीब सी नजर से देख रही थी। फिर मैंने उसको एक मिनी स्कर्ट पकड़ा दी और अब वो उसको बड़ी ही शरम से बदलने चली गई। फिर में उसको पहली बार अपनी नजरों के सामने मिनी स्कर्ट और ब्रा में देखकर बिल्कुल दंग रह गया, क्योंकि इससे पहले भी उसका वो गोरा आकर्षक जिस्म और वो सेक्सी भरी हुई जांघे जो मुझे हमेशा से अपनी तरफ खींचा करती थी। फिर वो जब दोबारा शीशे के सामने आई तो मुझे दिखाई दिया कि उसकी स्कर्ट थोड़ी सी उठी रह गई थी और अब मैंने भी उसके पास जाकर धीमे धीमे से उसकी गर्दन को सूंघते चूमते हुए उसकी उस स्कर्ट को उस जगह से ठीक किया और अब में उसकी जांघो पर हाथ फेरने लगा और साथ साथ में उसकी मिनी स्कर्ट के अंदर अपने एक हाथ को डालकर उसकी गरम जांघो पर और उसके उपरी हिस्से पर भी हाथ फेरने लगा था, तभी मैंने महसूस किया कि वो अब थोड़ी सी तेज तेज साँसे लेने लगी थी क्योंकि उसको इस तरह का अहसास पहली बार जो हुआ था। अब्ब मैंने उसी समय उसके कान के पास अपने मुहं को ले जाकर बहुत धीमी आवाज से उससे पूछा कि क्या कभी किसी ने तुम्हारे बूब्स दबायें है? तब उसने धीरे से अपने सर को ना कहते हुए हिला दिया और अब मैंने पीछे से ही ब्रा के ऊपर से ही उसके बूब्स को ज़ोर से दबाए जिसकी वजह से वो उफ़फ्फफ्फ्फ्फ़ आह्ह्ह्हह्ह कर उठी उसी समय थोड़ी देर उसके बूब्स को ज़ोर से दबाए रखकर मैंने अब लगातार उसके दोनों बूब्स को दबाना शुरू कर दिया और तब मैंने महसूस किया कि अब उसको भी मेरे यह सब करने से मज़ा आने लगा था और इसी बीच मैंने अपनी शर्ट को उतार दिया और उसके बाद मैंने सही मौका देखकर उसकी ब्रा का हुक खोलकर ब्रा को भी नीचे गिरा दिया था और अब उसकी गर्दन को चाटते हुए उसकी गरम मुलायम पीठ से अपनी छाती को चिपकाते हुए में उसके खुले हुए बूब्स को बड़े से दबाने लगा था जिसकी वजह से वो अब सिसकियाँ भरने लगी और जिस तरह उसके बूब्स मेरे हाथों में इधर से उधर भाग रहे थे मुझे हमेशा की तरह मज़ा आने लगा था और मेरा लंड पूरी तरह से जोश में आकर तन चुका था और अब वो भी पूरी तरह से गरम हो चुकी थी।

Loading...

अब मैंने काले रंग की मेक्सी को उसके एक हाथ में पकड़ाते हुए अपनी बाहों में उठाकर बाथरूम ले जाते हुए मैंने उससे पूछा कि क्या कभी किसी ने तुम्हारे कपड़े बदले है? लेकिन उसने मेरी इस बात का अपनी तरफ से मुझे कोई भी जवाब नहीं दिया और में उसकी उस ख़ामोशी का मतलब ठीक तरह से समझ चुका था। अब मैंने उसको बाथरूम के अंदर ले जाकर मेक्सी को पहले एक तरफ खूँटी पर टांक दिया उसके बाद मैंने तुरंत उसकी स्कर्ट को उतार दिया तब मैंने देखा कि उसकी पेंटी तो जोश में आने की वजह से बहुत गीली हो चुकी थी और पेंटी को उतारते हुए उसने मुझे जताया कि वो कभी भी किसी के सामने पूरी नंगी नहीं हुई थी, उस समय वो खुशी में मुस्कुरा रही थी। अब मैंने उसकी हल्के छोटे छोटे से बालों वाली कुंवारी चूत की एक लंबी मजेदार किस ली और उसके बाद मैंने अपनी पेंट को उतारकर अपने से चिपकाकर में स्मूच करने लगा। फिर अब मैंने महसूस किया कि थोड़े ही टाइम में वो भी बहुत कुछ सीख गई और अब वो भी मेरे साथ पूरी तरह से खुलकर स्मूच करने लगी थी और शायद उस दिन उसने अपने जीवन में पहली बार मेरे साथ जी भरकर स्मूच किया था, तब मैंने कुछ देर बाद उसको धीरे से नहाने के टब में धकेल दिया और अब में उसके गोरे भरे हुए पैरों से शुरू करके जाँघो को नाभि को चूमने के बाद में अब उसके बूब्स को भी चूसने लगा था। अब मुझे उसकी तेज गति से चलती हुई वो धड़कने साफ साफ महसूस हो रही थी और बहुत देर तक उसको लगातार चूमने चूसने के बाद मैंने उसको अब अपनी बाहों में उठाने की बजाए कंधे पर पेट के बल उठाया जैसे कि अब बिल्कुल वो बेबस हो और उसके बाद मैंने उसको बाहर ले जाकर बेड पर लाकर पटक दिया। अब मैंने उसकी तरफ बहुत ध्यान से देखा। वो अब एकदम घबरा चुकी थी, क्योंकि उसके साथ ऐसा बर्ताव वो सभी काम अब तक किसी ने नहीं किया था। अब मैंने उसके दोनों हाथ दबोच लिए और फिर उसको स्मूच करते हुए मैंने उसके होंठ पर हल्का सा काट खाया, जिसकी वजह से वो हल्की सी सिहर गई और उसके मुहं से आईईईई स्सीईईईई की आवाज उस समय बाहर आई और अब मैंने उसकी तरफ देखकर मुस्कुराते हुए उसके दोनों पैरों को फैला दिया और उसके बाद मैंने अपनी दो उँगलियाँ उसकी चूत में हल्के से रगड़ना शुरू कर दिया। में उसकी चूत के दाने को अपनी ऊँगली से सहलाने लगा, जिसकी वजह से वो जोश में आकर ऊउफ़्फ़्फ़्फ़ आह्ह्ह्हह आईईईइ की आवाज़े करने लगी और अब मैंने उसकी कामुकता को देखकर बड़ी तेज़ी से अपनी दोनों उँगलियों को लगातार अंदर बाहर करना शुरू कर दिया था और कुछ ही देर बाद में उसके साथ साथ अब चूत के दाने को भी अपनी जीभ से चाटने लगा। इससे उसकी एक तेज आह्ह्ह के साथ उसकी चूत ने बहुत सारा पानी छोड़ दिया और अब वो एकदम लाल और बहुत गरम हो गई। फिर मैंने उसकी चूत के पानी को चाटते हुए उसकी चूत में अपनी जीभ को पूरा अंदर डाल दिया और में अब रगड़ने लगा, जिसकी वजह से वो छटपटाने लगी और मुझसे आह्ह्हह्ह उफफ्फ्फ्फ़ आऐईईईइ प्लीज अब रहने दो भैया कहने लगी। अब मैंने और भी ज़ोर से अपनी जीभ को रगड़ते हुए उसको पूरा जोश से भर दिया और फिर उसने एक हल्की सी आह्ह्ह के साथ थोड़ा सा पानी दोबारा छोड़ दिया। दोस्तों ये कहानी आप कामुकता डॉट कॉम पर पड़ रहे है।

अब वो अपने दोनों पैरों को बंद करने की कोशिश करती हुई एक तरफ लुढ़क गई और अब मैंने उठकर उसको सिर्फ़ मेक्सी पहनकर आने के लिए कहा और में उससे बोला कि अभी शाम बाकी है, तब तक मैंने टेबल पर दो गिलास में विस्की के पेग बनाए और उसमे थोड़ी बर्फ थोड़ी सी कोक, स्नेक्स निकाले और उसके बाद डीवीडी प्लेयर को चालू करके उसमे ब्लूफिल्म लगाकर रिमोट से चुदाई का द्रश्य लाकर मैंने टीवी को बंद करके अपनी अंडरवियर को उतारकर बेड के किनारे में अपने दोनों पैरों को लटकाकर बैठ गया। फिर वो उस मेक्सी को पहनकर आई और वो थोड़ी सी झिझकती हुई मेरे पास आकर बैठ गई उसने नीचे देखा और तब मैंने उसका हाथ अपने 6 इंच के लंड पर रख दिया उसकी जांघे बेड के कोने पर लटकते अपने पैरों की वजह से दबकर और भी मोटी ज्यादा सुंदर सेक्सी नजर आ रही थी। यह नज़ारा देखकर मेरा लंड खड़ा हो गया और वो थोड़ा सा हड़बड़ाकर अपने हाथ को पीछे हटाने लगी थी। अब मैंने उसको उसके दोनों हाथो से अपने लंड को पकड़वाते हुए उससे कहा कि तुम आज खुलकर मज़ा लो और इसके साथ जमकर खेलो, लेकिन उसको कुछ भी समझ में नहीं आया वो मुझे अपनी हैरानी नजर से देखने लगी थी। तभी मैंने उसका एक हाथ अपने हाथ में लेकर उसको अपने लंड पर धीमे से फैरना शुरू किया, वो मेरे लंड को सहलाने लगी और तब मैंने महसूस किया कि अब उसने थोड़ी देर बाद अपने हाथ को लंड के ऊपर बड़ी तेज से हिलाना शुरू कर दिया और में आह्ह्ह करने लगा और फिर बीच में ही अचानक से उसको रोककर मैंने पास में रखी हुई टेबल को दूर सरकाकर उसको मेरा लंड अपने मुहं में लेने के लिए कहा। फिर वो पहले मेरे लंड का टोपा अपनी जीभ से चाटने और चूसने लगी, तब मैंने उसको पूरा लंड नीचे तक अपने मुहं में लेकर अंदर बाहर करने को कहा और उसके बाद उसने भी ठीक वैसा ही किया अब वो बहुत जल्द बहुत अच्छा फ्रेंच करने लगी और में खड़ा होकर उसको घुटनों के बल बैठाकर उसका सर पकड़कर उसके मुहं में अपने लंड को धीरे धीरे झटके देकर अंदर, बाहर करने लगा। तब उसके गले का निचला हिस्सा बीच बीच में मेरे आंड को छू रहा था और यह सब करने की वजह से में बहुत ही कम समय में बहुत जोश में आकर अब झड़ने वाला था और थोड़ी देर के बाद मेरे लंड ने उसके गले में अब मेरे गरम गरम वीर्य की एक जोरदार पिचकारी मार दी और वो सब इतना अचानक से हुआ कि वो संभल भी नहीं सकी। फिर मैंने उसको मेरा वीर्य निगल जाने को कहा तो वो लंड को धीरे से बाहर करते हुए थोड़ा सा वीर्य गटक गई और थोड़ा उसके होठों पर फ़ैल गया, जिसको मैंने उससे चाटने को कहा उसने ठीक वैसा ही किया और अब वो थोड़ा सा कोक पीकर मुझसे लिपट गई और अब वो मेरी छाती, गर्दन पर मुझे किस करने लगी। उस समय वो पूरी मस्ती में आ चुकी थी। अब मैंने उसको बेड पर बैठाते हुए अपनी जांघों पर बैठा लिया, वो उस समय मेरी गोद में बैठी हुई थी, इसलिए मेरा वो लंबा मोटा लंड उसकी चूत को बाहर से ही रगड़ते हुए उसकी उस मेक्सी में कहीं खो गया था और अब मैंने टेबल को हमारे और टीवी के बीच में खींचते हुए उसको विस्की पीने को बोला और वो मेरा हर काम में बिना नाटक नखरा किए चुपचाप खुश होकर पूरा साथ देते हुए विस्की को पीने लगी और उसी समय मैंने सिगरेट को जलाते हुए ब्लूफिल्म को चालू कर दिया। फिर तभी उसने मुझसे कहा कि वो आज सिगरेट भी पीकर देखना चाहती है।

Loading...

फिर मैंने दूसरी सिगरेट उसको देकर उसको सिगरेट पीना सिखाया और तब वो पहली बार खींचते हुए थोड़ा सा खाँसी और उसने सिगरेट को मुझे लौटा दिया, उसके बाद मैंने उसको नशे दूसरी चीजों के बारे में थोड़ा सा बताया और फिर उसके बाद हम पेग पीते हुए सेक्सी फिल्म देखने लगे और उसी समय मैंने उसकी मेक्सी को उसके कंधो से नीचे उतारकर उसके दोनों बूब्स को पूरे नंगे कर दिए और अब में उन्हे ज़ोर से दबाने लगा, जिसकी वजह से मेरा लंड तनकर खड़ा हो गया। तब मैंने उसको मेरे लंड को अपनी चूत पर हल्के हल्के ऊपर नीचे होकर रगड़ने के लिए बोला। हम दोनों उस ब्लूफिल्म में एक लड़के को उस लड़की को स्मूच देते हुए उसके बूब्स को दबाते हुए देख रहे थे कि हम दोनों बड़ी जल्दी पूरे नंगे हो गए और अब वो लड़की उस लड़के के लंड को अपने मुहं में लेकर चूसने लगी। अब में लता के बूब्स को अपने मुहं में लेकर चूसने लगा और तभी थोड़ी देर में वो लड़का अब चूत को चाटने लगा, जब मैंने लता को उसका पेग खत्म करने को कहा तो उसने उसको एक ही घूंट में खत्म कर दिया, जिसके बाद उसने और पेग पीने से मना कर दिया और अब मैंने अपने लिए एक स्ट्रॉंग पेग बनाया और फिल्म को थोड़ी सी आगे कर दिया। फिर लड़का अब चूत में अपने लंड को डाल रहा था और मैंने तुरंत अपनी विस्की के घूँट को नीचे उतारते हुए उसको अपनी तरफ मुहं करके और टीवी की तरफ उसकी पीठ को करके बैठा दिया और उसके बूब्स को चूसते हुए मैंने झट से उससे पूछा क्या तुम्हे पता है कि तुम अभी भी वर्जिन हो? लेकिन उसने अपनी तरफ से मुझे कोई भी जवाब नहीं दिया। में उसको अपनी गोद में उठाकर बेड पर ले गया और फिर उसको लेटाते हुए मैंने उसकी मेक्सी को उतारकर दूर फेंक दिया और अब पहली बार हम दोनों एक दूसरे के सामने पूरे नंगे थे। अब मैंने उसको उसके मुहं से चूत और लंड शब्द बोलने को कहा, तो वो बोली और तब उसके मुहं से यह सब सुनते हुए मुझे बहुत जोश आ गया और मैंने उसके वो शब्द बोलते ही उसके होंठो को चूम लिया। फिर मैंने उसको यह कहते रहने को कहा कि मुझे चोद दो और वो कहती रही। अब में उसके दोनों पैरों को फैलाकर अपना लंड उसकी चूत में डालने लगा और तभी उसको दर्द होने लगा था और वो सिसकियाँ लेते हुए मुझसे बोलने लगी थी आह्ह्हह्ह उफफ्फ्फ्फ़ प्लीज भैया मुझे बड़ा अजीब सा दर्द हो रहा आईईईइ ऊउईईईईई माँ में मर जाउंगी प्लीज आप अब मुझे छोड़ दो, लेकिन मैंने उसकी किसी भी बात पर ध्यान ना देकर अपनी तरफ से एक ज़ोर का झटका दे दिया और वो उसकी वजह से चीख उठी और वो साथ ही साथ रोने भी लगी थी। अब मैंने उसको चुप करवाते हुए हम दोनों को उसी पोज़िशन में कुछ देर तक रोके रखा और उसी समय मैंने नीचे की तरफ देखा कि अब बेडशीट पर उसकी चूत से खून बाहर निकलकर टपक रहा था।

अब वो बोली कि आह्ह्हह्ह भैया प्लीज अब जाने दो मुझे बहुत दर्द हो रहा है स्सीईईईईइ ऊउईईईई अब आप बस करो, बाहर निकालो इसको, यह सब क्या है यह मुझे कैसा दर्द हो रहा है? तो मैंने उसको सहलाते हुए कहा कि अब तुम्हे ज्यादा दर्द नहीं होगा और कुछ देर बाद तुम्हे बड़ा मज़ा भी आएगा और फिर में अपनी तरफ से उसकी चूत में धीरे धीरे झटके भी मारने लगा और फिर मैंने महसूस किया कि धीरे धीरे उसको अब मज़ा भी आने लगा था और वो आहें भरने लगी थी। फिर मैंने उसी समय बिना अपनी पोज़िशन बदले अब अपने झटके और भी तेज कर दिए और थोड़ी देर में वो झड़ गई, लेकिन में लगा रहा और पीछे से चूत में अपने लंड को डालकर और उसी के साथ में उसके बूब्स को दबाकर कुछ और झटके देने के बाद मेरे लंड ने वीर्य की एक पिचकारी निकाल दी और अब हम दोनों एकदम निढाल होकर पड़ गये, तब तक नो बज चुके थे और थोड़ी देर में मम्मी का फोन आना था, यह बात पूछने के लिए कि क्या हमने खाना खाया और क्या सोने की तैयारी कर ली? लेकिन हमे अब एक दूसरे की बाहों में ही नींद आ गयी। कुछ देर बाद फोन की घंटी बजते ही लता दौड़कर घबराकर वैसे ही नंगी ड्रॉयिंग रूम में चली गई और फिर मम्मी से अच्छी तरह से बात करके वो दोबारा वहीं सोफे पर थकान की वजह से सो गई। फिर में 9.30 बजे उसको इधर उधर ढूँढते हुए ड्रॉयिंग रूम में पहुंच गया और तब मैंने देखा कि वो उस समय बड़ी गहरी नींद में सो रही थी और उसको हल्का सा बुखार आ रहा था। फिर मैंने उसको एक रजाई ओढ़ाई और उसके बाद मैंने सबसे पहले नहाकर कमरे को अच्छी तरह से साफ कर दिया और फिर विस्की पीते हुए डीवीडी पर फिल्म देखने लगा। दोस्तों उसकी चूत की सील को तोड़ते हुए मेरा लंड भी थोड़ा सा छिल गया था और उस वजह से मुझे हल्का सा दर्द हो रहा था। फिर करीब 11 बजे उसकी नींद खुली और वो मेरे रूम में नंगे चलते हुए आ गई और फिर वो मेरा हाथ पकड़कर मेरे साथ पूरे घर में ही नंगी घूमने लगी। खास करके मम्मी और पापा के बेडरूम में मैंने हंसते हुए कहा कि देखा यह ऐसा जीवन जीने में कितना मज़ेदार होता है। उसके बाद मैंने उसको नहाने के लिए कहा और फिर फोन पर मैंने एक चिकन ऑर्डर कर दिया। फिर करीब 11.30 तक चिकन हमारे घर पर आ गया और अब लता भी अपने रूम से काले कलर का सलवार कुर्ता पहनकर मेरे रूम में आ गई। तब मैंने ध्यान से देखा कि वो उस समय सही ढंग से अपने दोनों पैरों को चिपकाकर नहीं चल पा रही थी और उसका मतलब साफ था कि हमारी उस चुदाई से उसकी चूत का आकार बदलने के साथ साथ उसकी चाल को भी पूरी तरह से बदल दिया था, लेकिन वो अब पहले से भी ज़्यादा हसीन लग रही थी। फिर मैंने विस्की का क्वॉर्टर खोला और उसने बियर ली और उसके साथ साथ हम दोनों ने डटकर पूरा चिकन खाया और तब उसने मुझे बताया कि वो कभी कभी इंग्लीश फिल्म के सेक्सी चुदाई के द्रश्य देखा करती थी और उसने मुझे भी अपने रूम में कई बार लंड को हाथ में लेकर मुठ मारते हुए झटके देते हुए देखा था।

अब मैंने उससे पूछा कि क्या उसने मम्मी, पापा को भी चुदाई करते हुए कभी देखा है? तो वो मुझसे कहने लगी कि वहाँ पर झाँकने की उसकी इतनी हिम्मत नहीं हुई। अब उसने मुझसे पूछा कि क्या मैंने वो सब देखा है? तो मैंने कहा कि मुझे देखने से ज़्यादा करने में मज़ा आता है, इसलिए मैंने उस तरफ इतना ध्यान नहीं दिया और तब मैंने उससे पूछा कि क्या उसको मेरे साथ वो सब करके मज़ा आया? तो वो बोली कि वो सभी कुछ एक बार करके देखना चाहती थी और मेरी तारीफ वो जन्मदिन की पार्टी पर दो लड़कियों को बात करते हुए सुन चुकी थी, लेकिन वो नहीं जानती थी कि वो आगे क्या करे? उसको रात को कई बार अपनी गीली पेंटी को देखकर कुछ भी समझ में नहीं आता था कि वो इसके बारे में किससे पूछे? अब मैंने उसको दो गोलियां दे दी और दो और कल सुबह लेने को कहा और फिर उसको बताया कि तुम इसको खा लेना, क्योंकि हमारी उस चुदाई की वजह से गर्भवती हो सकती है। फिर मेरी उस बात को सुनकर वो एकदम से डर गई, लेकिन मैंने उसको दिनों का ध्यान रखना सिखाया और कंडोम और गर्भनिरोधक गोलियों से होने वाला बचाव के बारे में बताया, जिसको उसने बहुत ध्यान से सुना। फिर उसके बाद नहाकर हम दोनों मेरे रूम में आकर लेटकर बहुत सी बातें करने लगे और बातें करते वक़्त मेरा हाथ बेड के नीचे रखे उस कंडोम पर चला गया और तब मुझे सूझा कि अभी पूरी रात बाकी है। दोस्तों यह थी मेरी सच्ची चुदाई की घटना जिसमें मैंने अपनी बहन को अनाड़ी से एक अनुभवी खिलाड़ी बना दिया ।।

धन्यवाद …

 

Comments are closed.

error: Content is protected !!

Online porn video at mobile phone


hendi sexy storeysex stori in hindi fonthindi sex astoriindian sax storysex story in hindi downloadindian sex history hindiall hindi sexy storysex ki hindi kahanihindi sexy story adiohinndi sexy storysexi story hindi mhindi sex storidshindi sexy stroessex story hindi allhindi sxe storesexy stry in hindisex story in hindi languagesex sexy kahanikamukta comsexy story in hundisexy stoy in hindisx storysindian sex history hindihindi sexi storeissexy stori in hindi fontsex hind storewww hindi sex store comsexi stories hindihindi sexy storueshindi sec storyhinfi sexy storyhindi sex storaihindi storey sexyhindi se x storiesbrother sister sex kahaniyasex story in hidisexy storyywww hindi sexi kahanihindi sax storyhindi sxe storyhindi sex story hindi mehinde sex khaniasexy storry in hindihindi sexy kahani comsx storyshindi sexy storieasex hind storehini sexy storyhindi sexy stroiessexy story new in hindihindi sexy stroeshindi sex story comhindi sax storehindi sex strioessex khaniya in hindi fontsexy story new hindisagi bahan ki chudaisex store hendehindi sxiysex story in hindi newchut land ka khelsex khaniya in hindihinde sexe storehindi sex kahaniya in hindi fonthindi sexy setorehinde sex storehindi font sex storieswww new hindi sexy story comsexy story hundihindi sex store